सीएम धामी ने विधायक शैलारानी को दी श्रद्धांजलि

CM Dhami paid tribute to MLA Shailrani

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Dhami) ने केदारनाथ विधायक शैलारानी रावत के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी और गहरा दुःख व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने रावत के निधन को प्रदेश व पार्टी के लिए अपूरणीय क्षति बताया।

मुख्यमंत्री धामी (CM Dhami) बुधवार को बलबीर रोड स्थित भाजपा कार्यालय पहुंचे और यहां उन्होंन केदारनाथ विधायक शैलारानी रावत को श्रद्धांजलि दी।इस मौके पर मुख्यमंत्री धामी (CM Dhami) ने कहा कि शैलारानी अपनी विधानसभा क्षेत्र की जनसमस्याओं के समाधान के लिए हमेशा तत्पर रहती थीं। शैलारानी रावत की कर्तव्यनिष्ठा और जनसेवा के प्रति समर्पण भाव सदैव याद रखा जाएगा। वे जनता की समस्याओं को सरकार एवं शासन स्तर पर प्राथमिकता से रखकर उनका समाधान करवाती थीं।

उन्होंने (CM Dhami) हमेशा समाज के अंतिम छोर में खड़े लोगों की आवाज उठाने और समाधान की ओर ले जाने का कार्य किया। उनका व्यक्तित्व सरल, सहज एवं मृदुभाषी था।

मुख्यमंत्री (CM Dhami) ने दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान देने एवं शोक संतप्त परिजनों को दुःख की इस घड़ी में धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से कामना की है। इस दौरान कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, रेखा आर्या, सौरभ बहुगुणा, सांसद त्रिवेन्द्र सिंह रावत, विधायक उमेश शर्मा काऊ, खजानदास, रेनू बिष्ट, सुरेश सिंह चौहान एवं भाजपा पदाधिकारियों ने शैलारानी रावत को श्रद्धांजलि दी।

जोशी और महाराज ने भी दी श्रद्धांजलि

कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने केदारनाथ विधायक शैलारानी रावत के निधन पर राजपुर रोड स्थित उनके आवास पर पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। साथ ही बाबा केदार से दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान देने और शोकाकुल परिजनों को दुःख सहने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की। मंत्री जोशी ने कहा कि शैलारानी रावत का निधन पार्टी, राजनीति और क्षेत्र के लिए अपूरणीय क्षति है। उन्होंने परिवारजनों से मुलाकात कर उनको ढांढस बंधाया।

सीएम धामी ने दिल्ली में केदारनाथ मंदिर का किया शिलान्यास, बोले- शिव भक्तों की आस्था को मिलेगा बल

वहीं कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने भी केदारनाथ विधायक शैलारानी रावत के निधन पर शोक जताया। कैबिनेट मंत्री ने केदारनाथ विधायक शैलारानी के निधन पर गहरा दु:ख जताते हुए कहा कि वे एक कर्मठ, जुझारू और कर्मशील विधायक थीं। उनका निधन प्रदेश के लिए अपूर्णीय क्षति है।