धामी ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का किया दौरा, प्रभावितों को हर संभव मदद का दिया भरोसा

cm dhami

रुद्रपुर (उधम सिंह नगर)। सूबे के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (CM Dhami) ने मंगलवार को अतिवृष्टि से प्रभावित क्षेत्रों का स्थलीय निरीक्षण कर नुकसान का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने प्रभावित लोगों से बातचीत कर हर संभव सहायता का आश्वासन दिया।

मुख्यमंत्री (CM Dhami)  ने जलभराव क्षेत्र चकरपुर, अमाऊं, खटीमा बाजार, रेलवे क्रासिंग, आवास विकास, पकड़िया आदि का दौरा कर बाढ़ पीड़ितों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि सरकार जनता के साथ है, बाढ़ आपदा प्रभावित परिवारों को हर संभव त्वरित सहायता दी जायेगी। उन्होंने जिलाधिकारी उदय राज सिंह को जनता के सभी प्रकार के हुए नुकसान का आंकलन कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि आपदा प्रभावितों के रहने-खाने व दवाओं की उचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाए तथा आपदा से हुई फसलों की क्षति का आंकलन करते हुए शीघ्र पीड़ितो को मुआवजा वितरित किया जाए।

मुख्यमंत्री धामी (CM Dhami) ने चकरपुर क्षेत्र व वनखंडी महादेव मन्दिर परिसर से संचालित अस्थाई राहत शिविर का भी निरीक्षण किया और बाढ़ जलभराव से हुए नुकसान और उत्पन्न होने वाली समस्याओं के निस्तारण के अधिकारियों को निर्देश दिए। इस दौरान मुख्यमंत्री ने राहत शिविर में मौजूद लोगों को भोजन वितरित किया तथा भोजन के गुणवत्ता की जानकारी ली। बाद में मुख्यमंत्री ने जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के साथ बाढ़, जल भराव प्रभावित क्षेत्र आमऊं वार्ड नं 7, पूर्णागिरी कालोनी का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने आपदा से हुए परिसंपत्तियों का शीघ्र-अतिशीघ्र सर्वे आंकलन कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

देहरादून पहुंचे पांचों बलिदानियों के पार्थिव शरीर, सीएम धामी ने दी श्रद्धांजलि

मुख्यमंत्री (CM Dhami) ने कहा कि किसी भी आपदा को रोका नहीं जा सकता लेकिन इसके होने वाले प्रभावों को न्यून करना हम सबका दायित्व है। इसके लिए सभी अधिकारी अपने अपने क्षेत्रों में निगरानी बनाएं रखे और निरंतर मॉनिटरिंग करें। किसी भी क्षेत्र से सूचना प्राप्त होते ही तत्काल टीम को भेजकर यथासंभव राहत बचाव कार्य शुरू करें। इस प्रकार का मेकेनिज्म हो कि प्रभावितों को मौके पर ही राहत सामग्री और राशि दी जाए। आवश्यकता पड़ने पर राहत शिविरों का संचालन हो इसके लिए स्थानों को चिन्हित कर लिया जाए।

निरीक्षण के दौरान कृषि मंत्री गणेश जोशी, सांसद अजय भट्ट, जिलाधिकारी उदय राज सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष कमल जिन्दल, जिला महामंत्री अमित नारंग, प्रभागीय वनाधिकारी हिमांशु बागरी, अपर जिलाधिकारी अशोक जोशी, पंकज उपाध्य, सीएमओ मनोज शर्मा, उपजिलाधिकारी रविन्द्र बिष्ट, निदेशक मंडी बी एस चलाल, मुख्य अभियंता सिंचाई संजय शुक्ला, अधिशासी अभियंता एएस नेगी, परियोजना निदेशक अजय सिंह, जिला विकास अधिकारी सुशील मोहन डोभाल सहित समस्त जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।