यूपी परिवहन निगम ने अक्टूबर में कमाए साढ़े 32 लाख

Buses

लखनऊ। उत्तर प्रदेश राज्य परिवहन निगम (UP Transport Corporation) ने अक्टूबर माह में चेकिंग अभियान के दौरान 32 लाख 58 हजार रूपये से अधिक की राजस्व की वसूली की है।

आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को बताया कि निगम के प्रवर्तन कार्मिकों द्वारा अक्टूबर में चेकिंग की गयी, जिसमें विभाग को केवल एक माह में 32 लाख 58 हजार 385 रुपये का रेवेन्यू प्राप्त हुआ।

निगम के प्रधान प्रबन्धक (कार्मिक) अशोक कुमार ने बताया कि परिवहन निगम (UP Transport Corporation) को घाटे से उबारने के लिए कई कदम उठाए गए है। इससे निगम ने पिछले साढ़े छह वर्षों में काफी लाभांश अर्जित किया है। इसके लिए मुख्यालय स्तर से गठित सूमो चालाक दल एवं इन्टरसेप्टर के माध्यम से समय-समय पर परिवहन निगम की बसों की नियमित जांच की जाती है। ऐसे में अक्टूबर में परिवहन निगम द्वारा संचालित बसों की एक लाख 16 हजार 834 बार जांच की गयी।

एक्सप्रेसवे के किनारे औद्योगिक गलियारे बनाएगी योगी सरकार

उन्होने बताया कि जांच के दौरान कुल 4901 यात्री बिना टिकट यात्रा करते पाये गये जबकि 172.4 टन बिना बुक भार पकड़ा गया है। जांच दल द्वारा की गई कार्यवाही से विभाग को 32 लाख 58 हजार 385 रुपये वसूले गये। इस दौरान 8,420 चालकों, परिचालकों का एल्कोहल टेस्ट भी किया गया।