NATIONALPOLITICSUTTAR PRADESH

12वीं तक के स्कूलों में बढ़ीं छुट्टियां, Online Classes भी रहेंगी बंद

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बढ़ते हुए कोरोना संक्रमण के मद्देनजर राज्य सरकार ने स्कूलों में छुट्टियां बढ़ाने का फैसला लिया है। इसके तहत आॅनलाइन कक्षाएं (Online Classes) भी नहीं होंगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने शुक्रवार को निर्देश दिये कि कोविड संक्रमण के मद्देनजर प्रदेश में कक्षा एक से 12वीं तक के सभी विद्यालयों में 10 मई तक अवकाश रखा जाये। कोचिंग संस्थाएं भी बंद रहेंगी।

आॅनलाइन कक्षाएं भी रखी जायें स्थगित : योगी

आॅनलाइन कक्षाएं (Online Classes) भी स्थगित रखी जायें। मुख्यमंत्री ने यहां टीम-11 के साथ कोविड की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि कोविड कार्य में जरूरत के अनुसार मानव संसाधन की व्यवस्था सुनिश्चित करायी जाये। मेडिकल, नर्सिंग और फामेर्सी के अंतिम वर्ष के छात्रों का सहयोग लिया जाये। एक्स आर्मी मैन, सेवानिवृत्त मेडिकल स्टाफ की सेवाएं ली जानी चाहिए।

DRDO ने बनाया अत्याधुनिक सुविधाओं से परिपूर्ण अस्पताल, सीएम ने की तारीफ

रिटायर्ड मेडिकल स्टाफ की भी ली जायें सेवाएं

योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री की प्रेरणा से शनिवार से 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों का कोविड टीकाकरण शुरू हो रहा है। वैक्सीनेशन के लिए आॅनलाइन पंजीयन अनिवार्य है। संबंधित आयु के लोग अपना जरूर पंजीयन करा लें। टीकाकरण केंद्रों पर कोविड प्रोटोकॉल का पूरा ध्यान रखा जाये।

उन्होंने कहा कि शुक्रवार रात 8 बजे से मंगलवार सुबह 7 बजे तक तक के साप्ताहिक कोरोना कर्फ्यू को प्रभावी ढंग से लागू किया जाये। इस अवधि में औद्योगिक गतिविधियां यथावत संचालित होती रहें। टीकाकरण के लिए आने-जाने वालों को भी छूट दी जायेगी। इसके अलावा केवल आवश्यक सेवाएं जारी रहेगी। जरूरत के हिसाब से पास जारी किया जा सकता है।

मेडिकल, नर्सिंग व फामेर्सी के अंतिम वर्ष के छात्रों का लिया जाये सहयोग

मुख्यमंत्री ने कहा कि आॅक्सीजन की आपूर्ति और बेहतर किये जाने की जरूरत है। हर दिन बेहतर होती जा रही है। लागातर प्रयासों से आज प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में आॅक्सीजन की उपलब्धता करायी जा रही है। लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी जैसे अधिक संक्रमण वाले जिलों में स्थिति पर लगातार नजर रखी जा रही है। आगरा के लिए विशेष प्रबंध किये गये हैं। इसी तरह, बलिया, चंदौली, अमरोहा, बिजनौर, लखीमपुर, बहराइच जैसे जिलों की ओर विशेष ध्यान दिये जाने की जरूरत है। इन्हें संबंधित मंडलों से आपूर्ति करायी जाये।

साप्ताहिक लॉकडाउन को प्रभावी ढंग से लागू करायें

योगी ने कहा कि आॅक्सीजन के संतुलित उपयोग के मद्देनजर आॅक्सीजन आॅडिट की प्रारंभिक रिपोर्ट के आधार पर  आपूर्ति-वितरण के संबंध में आगे की कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा कि अब पश्चिम बंगाल के तीन क्षेत्रों और जमशेदपुर से भी आपूर्ति हो रही है। दो नयी आॅक्सीजन रेल चलायी जा रही है। उद्योग जगत से भी सहयोग मिल रहा है। आॅक्सीजन टैंकरों की उपलब्धता बढ़ाये जाने के लिए सभी प्रयास किये जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि रेमडेसिविर इंजेक्शन की प्रदेश में उपलब्धता सुनिश्चित करायी जा रही है। सभी जिलों को हर दिन रेमेडेसीवीर उपलब्ध करायी जा रही है। सरकारी अस्पतालों में यह दवा नि:शुल्क उपलब्ध करायी जा रही है, निजी अस्पतालों को जरूरत पर इसकी आपूर्ति करायी जा रही है। जिला प्रशासन इस दवा की मांग, आपूर्ति और खपत का पूरा विवरण जरूर रखें।

वैक्सीनेशन के लिए आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन जरूरी, पंजीयन जरूर करा लें

उन्होंने कहा कि प्रदेश के किसी अस्पताल में किसी भी मरीज को भर्ती होने के लिए किसी भी प्रकार के रेफरल लेटर की कोई जरूरत नहीं है। कोई भी मरीज सुविधानुसार किसी भी सरकारी या निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती हो सकता है। यह व्यवस्था प्रभावी ढंग से लागू को जाये। बेड रिक्त होने पर कोई कोविड हॉस्पिटल (निजी और सरकारी) मरीज को इंकार नहीं कर सकता। निजी अस्पताल में अगर कोई मरीज इलाज का खर्च दे पाने में असमर्थ है तो राज्य सरकार उसका भुगतान करेगी।

Related Articles

Back to top button