BiharNATIONALUTTAR PRADESH

Cyclone Asani: 12 किमी घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है चक्रवात, यूपी-बिहार में दिखेगा असर

नई दिल्ली। बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान ‘असानी’ (Cyclone Asani) का असर आज से दिखना शुरू हो जाएगा। यह 12 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तटीय आंध्र प्रदेश और ओडिशा की ओर से बढ़ रहा है। मौसम विभाग का कहना है कि असानी के असर के कारण 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने के साथ बारिश की भी संभावना है।

मौसम विभाग ने तीन राज्यों पश्चिम बंगाल, ओडिशा और आंध्र प्रदेश में भारी बारिश की आशंका जाहिर की है। 10 मई यानी आज इसके आंध्र-ओडिशा तटों से पश्चिम मध्य और उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी में पहुंचने की संभावना है। मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि यह उत्तर-पूर्व की ओर मुड़ेगा। मौसम वैज्ञानिकों ने बताया, चक्रवात पिछले 6 घंटे के दौरान पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में 12 किमी प्रति घंटे की गति से आगे बढ़ रहा है और पुरी के लगभग 590 दक्षिण-पश्चिम और गोपालपुर, ओडिशा से लगभग 510 किमी दक्षिण-पश्चिम में है।

मौसम विभाग ने कहा है कि पश्चिम मध्य और उससे सटी दक्षिण बंगाल की खाड़ी में समुद्र बहुत तीव्र स्थिति की संभावना है। ऐसे में मछुआरों को 13 मई तक तटों पर न जाने की सलाह दी गई है।

यूपी-बिहार में भी दिखेगा असर

चक्रवात असानी का असर बिहार और उत्तर प्रदेश के पूर्वी जिलों में भी देखने को मिलेगा। यहां 11 और 12 मई को पूर्वी उत्तर प्रदेश में चमक के साथ तेज तूफानी हवाओं की चेतावनी भी जारी की गई है।

Cyclone Asani: ओडिशा की ओर बढ़ रहा चक्रवात, 120 किमी की रफ्तार से चल रही है हवाएं

पूर्वी उप्र में 14 मई तक बूंदाबांदी हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार, गोरखपुर, महाराजगंज, कुशीनगर, बस्ती, आजमगढ़, बलरामपुर, श्रावस्ती, बलिया समेत आसपास के पूर्वी जिलों में 14 मई तक हल्की बारिश का पूर्वानुमान है।

आंध्र प्रदेश में 11 मई को दिखेगा असर

मौसम विभाग ने कहा है, आंध्र प्रदेश में चक्रवात असानी का असर 11 मई को दिखेगा। सुबह से ही यहां के श्रीकाकुलम, विजयनगर, विशाखापत्तनम समेत कई जिलों में 40 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने के साथ ही साथ बारिश की संभावना है।

चक्रवात असानी को देखते हुए सिविल अधिकारियों को सहायता प्रदान करने के लिए विशाखापत्तनम में जेमिनी क्राफ्ट और संबंधित गियर के साथ 19 बाढ़ राहत दल और 6 डाइविंग दल अलर्ट पर हैं। इसके साथ ही भारतीय नौसेना के पांच जहाज राहत सामग्री, गोताखोरों और चिकित्सा टीमों के साथ स्टैंडबाय पर हैं।

चक्रवात आसनी: तेज बारिश और हवाओं से जनजीवन प्रभावित, रेड अलर्ट जारी

Related Articles

Back to top button