SPORTS

चंडीगढ़ ने दिव्यांग टी 20 क्रिकेट कप का खिताब जीता

नई दिल्ली। चंडीगढ़ (Chandigarh) ने सरदार पटेल राष्ट्रीय दिव्यांग टी 20 क्रिकेट कप (SPN Divyang T20 Cricket Cup) के उद्घाटन संस्करण का खिताब जीत लिया है। शुक्रवार को यहां तालकटोरा क्रिकेट ग्राउंड में खेले गए खिताबी मुकाबले में चंडीगढ़ ने दिल्ली को नौ विकेट से हराया।

समापन समारोह में केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) मुख्य अतिथि थे। उन्होंने टूर्नामेंट के आयोजन और दिव्यांग (Divyang) क्रिकेटरों को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए एक मंच प्रदान करने के लिए डिफरेंटली एबल्ड क्रिकेट काउंसिल ऑफ इंडिया (डीसीसीआई) के प्रयासों की सराहना की।

मैड्रिड ओपन के फाइनल में पेगुला का जेब्योर से होगा सामना

ठाकुर ने कहा, खेल विकलांग खिलाड़ियों को सशक्त बनाने और उन्हें मुख्य धारा में लाने का सबसे अच्छा मंच है। खेल मंत्रालय दिव्यांग क्रिकेट को अगले स्तर तक ले जाने के लिए आवश्यक सर्वोत्तम संभव सहायता प्रदान करेगा।

Divyang
Divyang

उन्होंने डीसीसीआई को मान्यता देने के लिए बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड) की भी सराहना की। टूर्नामेंट दिव्यांग व्यक्तियों के अधिकारिता विभाग दिव्यांग (Divyang) द्वारा समर्थित है।

भारत के अग्रणी एक्सेसिबिलिटी संगठन स्वयं ने डीसीसीआई के साथ हाथ मिलाया और सभी 90 खिलाड़ियों के खेलों के साथ-साथ टूर्नामेंट के लिए 40 अधिकारियों, अंपायरों और स्कोरर को प्रायोजित किया, इसके अलावा खिलाड़ियों को सुलभ परिवहन प्रदान किया।

फाइनल मुकाबले में दिल्ली ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में नौ विकेट के नुकसान पर 123 रन बनाए। फरमान ने 31 गेंदों में 35 रन बनाकर टीम के लिए सर्वाधिक रन बनाए। मेहताब अली ने 30 गेंदों में 25 रन, सचिन भाटी ने 13 रन और रोवेश नायर ने 12 रन बनाए।

Divyang
Divyang

जहां तक गेंदबाजी की बात है तो चंडीगढ़ के गुरजंत सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने चार ओवर में 19 रन देकर चार विकेट लिए. विक्रम और बजेता ने एक-एक विकेट लिया, जबकि विपिन ने एक विकेट लिया।

जवाब में चंडीगढ़ ने नौ विकेट और 4.2 ओवर शेष (124/1) रहते लक्ष्य हासिल कर लिया।

चंडीगढ़ के कप्तान देव दत्त ने 55 गेंदों पर 75 रन की नाबाद पारी खेली. संजय भैरव ने 31 गेंदों में नाबाद 24 रन बनाए।

आईपीएल में रोहित शर्मा के पूरे हुए 200 छक्के, इस क्लब का बने हिस्सा

Related Articles

Back to top button