INTERNATIONAL

इस देश में 12 साल तक के बच्चों को लगेगी Pfizer-bioentech की कोरोना वैक्सीन

कनाडा ने 12 साल तक के बच्चों के टीकाकरण के लिए फाइजर-बायोएनटेक (Pfizer-bioentech) की कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) को मंजूरी दे दी है। कनाडा ऐसा करने वाला विश्व का पहला देश बन गया है। कुछ देशों में टीकाकरण की न्यूनतम उम्र 16 वर्ष तक है।

चीफ मेडिकल अडवाइजर सुप्रिय शर्मा ने कहा कि कनाडा में बच्चों को कोविड-19 (Covid-19) से बचाने के लिए कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) को मंजूरी दी गई है। कनाडा का यह प्रयास कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में मील का पत्थर साबित होगा।  हमने 12-15 उम्र के बच्चों के लिए फाइजर (Pfizer) के वैक्सीन को मंजूरी दी है।

Corona in India : पिछले 24 घंटों में 4.12 लाख नए संक्रमित, 3980 की मौत

सुप्रिया शर्मा ने कहा कि टेस्टिंग रिपोर्ट्स की समीक्षा के बाद जल्द ही ब्रिटेन और यूरोपीय यूनियन से भी इसे मंजूरी मिल सकती है। बताया जा रहा है कि अमेरिका भी अगले सप्ताह तक 12-15 वर्ष तक के बच्चों के लिए इस वैक्सीन को मंजूरी दे सकता है। अमेरिका में 2000 से अधिक किशोरों को टीके के दो डोज लगाए गए, ट्रायल में पता चला कि यह बच्चों पर भी उतना ही सुरक्षित और प्रभावी है जितना वयस्कों पर।

कनाडा के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जिन बच्चों को यह टीका लगाया गया उनमें से कोई भी कोरोना संक्रमित नहीं पाया गया। वयस्कों में यह टीका संक्रमण से बचाव में 90 फीसदी से अधिक प्रभावी पाया गया है।

बच्चों पर भी टीके के साइड इफेक्ट्स व्यस्कों वाले ही थे, जैसे बांह में दर्द, ठंड लगना और बुखार आदि। फाइजर (Pfizer) के टीके को कनाडा में दिसंबर में 16 या इससे अधिक उम्र तक के लोगों के लिए मंजूरी दी थी।

कनाडा में एस्ट्राजेनेका, जॉनसन एंड जॉनसन और मोडेरना जैसे टीकों को भी मंजूरी प्राप्त है और ये 6 महीने तक के बच्चों के लिए वैक्सीन के ट्रायल की तैयारी में हैं।

Related Articles

Back to top button