UTTAR PRADESH

ब्रजेश पाठक ने सीएचसी का किया औचक निरीक्षण, CMO के कसे पेंच

रायबरेली। उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक (Brajesh Pathak) ने सोमवार को बछरावां सीएचसी (CHC) का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण कर वार्डों में भर्ती मरीजों और उनके तीमारदारों से हाल-चाल लिया। इस दौरान मिली कमियों पर उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी (CMO) को फटकार लगाई है।

उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक(Brajesh Pathak) अचानक बछरावां सीएचसी पहुंचे। उन्होंने अपने वाहनों को काफी दूर रोका और पैदल ही एक सामान्य नागरिक की तरह परिसर में घूमे फिर पर्चा काउंटर में अपना पर्चा बनवाया। किसी को यह नहीं पता था कि उपमुख्यमंत्री सीएचसी का निरीक्षण कर रहे हैं। उसके बाद लैब पहुंचे और यहां होने वाली जांचों के बारे में जानकारी ली और अधीक्षक के कमरे की ओर जाने लगे।

Image

इस बीच कहीं से पता चला तो सीएचसी अधीक्षक उपस्थित रजिस्टर जल्दबाजी में दुरुस्त करने में लगे थे। डिप्टी सीएम को अचानक अपने सामने देखकर कर वह सकपका गए, किंतु तब तक उनकी सारी करतूतें उपमुख्यमंत्री को पता चल चुकी थी। इस पर उन्होंने सीएचसी अधीक्षक को फटकारा फिर अस्पताल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान साफ सफाई और आम लोगों को पीने के पानी की व्यवस्था को देखा और निर्देश दिए। उन्होंने हरचंदपुर सीएचसी का भी निरीक्षण किया।

उपमुख्यमंत्री पर्चा काउंटर पर पर्चा बनवाने के लिए दस मिनट तक खड़े रहे। इस दौरान पर्चा बनाने वाला कर्मचारी फोन पर व्यस्त रहा। उन्होंने अधीक्षक से कहा कि दस मिनट में उस कर्मचारी का दो बार फोन आया था। लोग गर्मी में लाइन में खड़े थे। इस बात को लेकर उपमुख्यमंत्री ने चेतावनी देते हुए कहा कि ड्यूटी के दौरान फोन पर बात नहीं होनी चाहिए। पहले मरीजों की सेवा हो, उसके बाद दूसरा काम।

स्मृति ईरानी ने सीएम योगी से की मुलाकात, इन मुद्दों पर हुई चर्चा

दिव्यांग महिला से पूछा हाल चाल

डिप्टी सीएम जब अस्पताल में घूम रहे थे तभी इसी दौरान उनकी नजर एक दिव्यांग महिला पर पड़ी। उसे देखकर ब्रजेश पाठक (Brajesh Pathak) रुक गए और महिला से हालचाल पूछा। उसकी बीमारी और इलाज के बारे में भी जानकारी ली। यही नहीं उन्होंने इसी दौरान दो अन्य वृद्ध मरीजों से दवा और बीमारी के बारे में पूछताछ की है।

बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा जिला अध्यक्ष का छलका दर्द, बोले- 10 को जोड़ता हूं तो 25

Related Articles

Back to top button