UTTAR PRADESHLucknow

न हो गंदे पानी की आपूर्ति, पेयजल पाइप लाइन का नियमित निरीक्षण किया जाए: एके शर्मा

लखनऊ। प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री एके शर्मा (AK Sharma) ने कहा कि बरसात के दौरान शहरों व कस्बों में कहीं पर भी लोगों को वाटर लॉगिंग, जलभराव व गंदगी का सामना ना करना पड़े। इसके लिए नगरीय निकायों के सभी अधिकारी/कर्मचारी पूर्ण सतर्कता के साथ कार्य करें, जहां कहीं पर भी नाले व नालियों की सफाई पर कमी रह गई हो, उसे लगकर पूर्ण करा लें। अधिक से अधिक मशीनों का प्रयोग किया जाए। इन कार्यों में लगी एजेंसियों के कार्यों की भी नियमित निगरानी की जाए। उन्होंने कहा कि कहीं पर भी थोड़ी सी ढिलाई व चूक से बड़ी समस्या खड़ी हो सकती है। इसलिए स्वयं मौके पर जाएं और मुस्तैदी से कार्य कराएं।

नगर विकास मंत्री  एके शर्मा (AK Sharma) आज नगरीय निकाय निदेशालय में निकायों में किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की और अहम निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लखनऊ एवं उन्नाव में गंदे पानी की आपूर्ति की शिकायतें आ रही हैं, जिससे गंभीर बीमारी फैलने की आशंका बनी हुई है। इसके लिए उन्होंने प्रबंध निदेशक, जल निगम,  अनिल कुमार को तत्काल मौके पर अधिकारियों की टीम भेजकर मुआयना कराने के निर्देश दिए और कहा कि किसी भी निकाय में गंदे पानी की आपूर्ति ना होने पाए। इसके लिए पाइप लाइन का नियमित निरीक्षण करें। लोगों को गंदगी का सामना ना करना पड़े। शहरों के सुंदरीकरण पर ध्यान दें। बरसात में भी नियमित साफ-सफाई कराएं। शहर के गंदे स्थानों की सफाई कराकर वहां पार्क, उद्यान विकसित किए जाएं और वृक्षारोपण कराया जाए। सड़कों के किनारे डिवाइडर पर सजावटी पौधे लगाए जाएं। उन्होंने कहा कि अमृत सरोवरो के निर्माण में भी तेजी लाई जाए। साथ ही जनसुनवाई पर विशेष ध्यान दें। छोटी-छोटी समस्याओं को लेकर शिकायतकर्ता को उच्चाधिकारियों, मंत्री या मुख्यमंत्री के यहां दौड़ न लगानी पड़े। उन्होंने कहा कि लोगों की शिकायतों को सुनने के लिए डीसीसीसी, 1533, सम्भव आदि की व्यवस्था की गई है, जिसके माध्यम से शिकायतों का शीघ्र समाधान किया जा रहा है। 05 अप्रैल, 2022 से अब तक डीसीसीसी के तहत नगरीय निकायों से 8914 शिकायतें प्राप्त हुई, जिसमें से 8445 शिकायतों का निस्तारण किया जा चुका है, शेष 469 शिकायतों के समाधान के लिए अधिकारियों को कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

मेनका गांधी ने ऊर्जा मंत्री से की मुलाकात

एके शर्मा (AK Sharma) ने एमडी जल निगम  अनिल कुमार को निर्देशित किया है कि जहां कहीं पर भी पानी की पाइप बिछाने के लिए खुदाई की गई है। कार्य पूरा होने पर उस स्थान को मूलरूप में लाया जाए, जिससे कि लोगों को बरसात में समस्या का सामना ना करना पड़े। कहीं पर भी वाटर सप्लाई और पाइप लीकेज की समस्या हो, उसका भी शीघ्र समाधान कराया जाए।

प्रमुख सचिव नगर विकास  अमृत अभिजात ने बैठक में निर्देशित किया कि निकायों में कराए जा रहे कार्य प्रभावित ना हो, इसके लिए सभी स्थानांतरित अधिकारी/कर्मचारी 24 घंटे के भीतर अपनी तैनाती स्थल पर पदभार ग्रहण कर ले, नहीं तो अगले ही दिन उन्हें निलंबित कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि शहरों की व्यवस्था को अतिक्रमण मुक्त कराया जाए। मौसमी बीमारियों, मच्छरों के पनपने को रोकने के लिए छिड़काव किया जाए। डीजल की खपत को कम करने के लिए लखनऊ में लागू कार्ड सिस्टम से एक तिहाई की खपत में कमी हुई है, जिसे अन्य निकायों पर भी लागू किया जाए। उन्होंने नए विस्तारित, नए बने निकायों में भी मूलभूत सुविधाएं बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत 11 से 17 अगस्त, 2022 तक चलने वाले ‘हर घर तिरंगा’ कार्यक्रमों को प्रत्येक निकाय पूरी मुस्तैदी से कराएं।

एक साथ स्पॉट हुए सिद्धार्थ मल्होत्रा और कियारा आडवाणी

बैठक में सचिव नगर विकास  अनिल कुमार, विशेष सचिव नगर विकास  धर्मेन्द्र प्रताप सिंह व  सुनील कुमार चौधरी, निदेशक नगरीय निकाय नेहा शर्मा, निदेशक सूडा यशु रूस्तगी, अपर निदेशक  असलम अंसारी, उप निदेशक डॉ0 सुनील कुमार यादव आदि उपस्थित थे एवं सभी नगर निकायों के नगर आयुक्त नगर पालिका परिषदों व नगर पंचायतों के अधिशासी अधिकारी वर्चुअली जुड़े थे।

Related Articles

Back to top button